बाला ने पोषण माह 2021 के अन्तर्गत बाल सम्प्रेक्षण गृह से पोषण रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया

154

 उपविकास आयुक्त श्री अरूण वाल्टर संगा, अनुमण्डल पदाधिकारी श्री महेन्द्र कुमार एवं जिला समाज कल्याण पदाधिकारी श्रीमती रेणु बाला ने पोषण माह 2021 के अन्तर्गत बाल सम्प्रेक्षण गृह से पोषण रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। पोषण रथ जिले के सभी प्रखण्डों के जन-जन तक पहुंच, कुपोषण मुक्त गांव-समाज बनाने की दिशा में आम-जन को जागरूक करने का कार्य करेगा।

उपायुक्त सिमडेग श्री सुशांत गौरव ने पोषण माह के तहत् जिले के शतप्रतिशत लोगों को जागरूक एवं प्रेरित करने की दिशा में संबंधित अधिकारियों को महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दियें है। वहीं उन्होने कहा कि सिमडेगा जिला कुपोषण मुक्त एवं पोषण युक्त जिला बनाने की दिशा में जारी दिशा-निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए सिमडेगा जिला को पोषण युक्त जिला बनाने की बात कही है। रथ रवानगी के क्रम में उप विकास आयुक्त श्री अरूण वाल्टर संगा ने कहा कि कुपोषण छोड़ पोषण की ओर थामे क्षेत्रीय भोजन की डोर के थीम पर पोषण माह 2021 जिले में मनाया जायेगा। जिला प्रशासन के द्वारा जिले को कुपोषण मुक्त बनाने की दिशा में तेजी से कार्य किया जा रहा है। पोषण रथ लोगों को जागरूक करने में कारगार होगा। उन्होने कहा कि जिले के लोग अपने खान-पान को पोषण सहित बनाते हुए स्वस्थ शरीर एवं मानव जीवन को स्वलम्बन बनायें। ग्रामीण क्षेत्रों में पोषण युक्त आहार उपलब्ध है, परन्तु अज्ञानता के कारण ग्रामीण उसका प्रतिदिन आहार के रूप में उपयोग नहीं कर पाते है, इस कड़ी को तोड़ना है। कहा कि आम-जन मानस के आस-पास हीं पोषण युक्त आहार उपलब्ध है, इसके प्रति लोग जागरूक होंगे, प्रतिदिन पोष्टिक आहार का सेवन करेंगे और ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे, परिवार हमारे सभी पोषण युक्त आहार का सेवन भोजन के दौरान करेंगे, इससे जिला प्रशासन को जिले को कुपोषण मुक्त जिला बनाने में काफी मददगार एवं कारगार साबित होगा। अनुमण्डल पदाधिकारी श्री महेन्द्र कुमार ने कहा कि लोगों की जागरूकता एवं जनभागीदारी से गांव-समाज सहित सिमडेगा जिले को पोषण युक्त बनाना है। आज पोषण रथ रवाना किया गया है, इसका उद्देश्य है कि हमारे जिले के लोग पोषण के प्रति जागरूक हो, और आने वाला कल में पोषण युक्त गांव-समाज का निर्माण करना है। 

जिला समाज कल्याण पदाधिकारी श्रीमती रेणु बाला कहा कि सिमडेगा जिले में 1 सितम्बर से 30 सितम्बर 2021 तक पोषण माह के रूप में मनाया जायेगा। उपायुक्त महोदय के दिशा-निर्देश में जिले के कोने-कोने तक लोगों को जागरूक करने हेतु पोषण रथ की आज रवानगी की गई। जिला समाज कल्याण विभाग के द्वारा पोषण माह में सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में विभिन्न प्रकार की एक्टीविटी प्रतिदिन सघन रूप से संचालित होगा। जिले के 94 पंचायत एवं 965 आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण माह सघन रूप से चलाया जायेगा। 1 सितम्बर से 07 सितम्बर तक सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण वाटिका के तहत् पौधा रोपण किया जायेगा, जिसमें सेविका, सहायिका, एएनएम, महिला पर्यवेक्षिका की सहभागिता होगी। पोषण गार्डन कर निर्माण विद्यालय परिसर में किया जायेगा। 8 सितम्बर से 15 सितम्बर तक योग आयुष एवं पोषण से संबंधित कार्य का सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में निर्वाह्न किया जायेगा। गर्भवती महिलाओं एवं सभी ग्रामीणों का एनिमिया जांच भी किया जायेगा। 16 सितम्बर से 23 सितम्बर तक स्थानीय पोष्टिक भोजन की जानकारी सभी अभिभावकों को दिया जायेगा। 24 सितम्बर से 30 सितम्बर तक कुपोषित बच्चों का चिन्हितिकरण किया जायेगा। गर्भवती महिलाओं के बीच क्विज प्रतियोगिता एवं पोष्टिक भोजन से संबंधित जानकारी दी जाएगी। आज बाल सम्प्रेक्षण गृह में उपविकास आयुक्त, अनुमण्डल पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, गृह के बालकों के द्वारा फलदार पौधों का वृक्षा रोपण किया गया, जो कि गृह के बच्चों को आने वाले समय में एक वृहद एवं पोष्टिक आहार मिलेगा, इसी संकल्प के साथ वृक्षा रोपन किया गया। साथ उसके संरक्षण की दिशा में अधिकारियों ने गृह के बच्चों को महत्वपूर्ण सुझाव भी दियें। इस मौके पर महिला पर्यवेक्षिका, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका सहित अन्य उपस्थित थें।