सपा की सरकार बनी तो गन्ना मूल्य चार सौ रुपए कुन्तल एवं महिलाओं को दो हजार रुपये पेंशन:नरेश उत्तम पटेल

209

 प्रदेश में सपा की सरकार बनी तो अन्नदाता को गन्ना मूल्य का भुगतान 400 रुपए प्रति कुंतल देगी तथा बाढ़ ग्रस्त क्षत्रो सुख रहे गन्ने के फसल का मुआवजा दिया जाएगा।

उक्त बातें रामकोला चीनी मिल परिसर  में 1992 में बकाया गन्ना मूल्य भुगतान के आंदोलन में शहीद हुए किसानों के 29वे पूर्णतिथि के अवसर पर आयोजित किसान मेले में बातौर मुख्य अतिथि सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने मेले में आए किसानों को संबोधित करते हुए कही । श्री पटेल ने प्रदेश के भाजपा सरकार को किसान विरोधी करार देते हुए कहा कि प्रदेश का अन्नदाता का इस सरकार में भुखमरी के कगार पर खड़ा है।यह सरकार किसानों को उचित मूल्य नही दे रही है।हमारी सरकार बनी तो 290 के समर्थन मूल्य पर 400/-प्रति कुन्तल एवं महिलाओं को  2हजार रुपये पेंशन दिया जाएगा ।साथ ही बाढ़ग्रस्त एरिया में सुख रहे गन्ने का मुआवजा दिया जाएगा।मै इसको सदन के पटल पर रखूंगा। देश और प्रदेश में महंगाई से हाहाकार मचा है डीज़ल, पेट्रोल और गैस का दाम आसमान छू रहा है।सरकार खाद का दाम बढ़ाकर बोरे का वजन कम कर दी है।

इसके पूर्व के किसान नौजवान पटेल यात्रा  एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सपा प्रदेश अध्यक्ष ने 92 के किसान आंदोलन में शहीद हुए जमादार मिया व पडोही हरिजन के स्मारक पर फूल माला अर्पित किए।पूर्व राज्य मंत्री एवं कार्यक्रम के आयोजक राधेश्याम सिंह मुख्य अतिथि एवं मेले में आए आगन्तुको का स्वागत किया और किसानआंदोलन में शहीद हुए पडोही हरिजन के पुत्र वशिष्ठ एवं जमादार मिया के पुत्र तौकिर को शाल देकर सम्मनित किए। श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश की किसान विरोधी सरकार में महंगाई चरम पर है।मै आजीवन किसानों के लिए संघर्ष करूँगा।सपा के जिलाध्यक्ष ने कार्यकर्ताओ एवं कार्यक्रम में आये सभी लोगो के प्रति आभार प्रकट किया।संबोधित करने वालो में मुख्य रूप से पूर्व मंत्री ब्रम्हा शंकर तिवारी,पूर्व विधायक पूर्णमाशी देहाती,पूर्व विधायक शम्भू चौधरी, नथुनी कुशवाहा,विजेंदर पाल उर्फ बबलू यादव,राजेश प्रताप राव उर्फ बंटी संतोष यादव शनि एमएलसी, इलियास अंसारी,रामअवध यादव एमएलसी रणविजय उर्फ मोहन सिंह,ए के बादल रहे। इस अवसर पर विजय यादव, हरिहर यादव,देवेंद्र यादव, कैलाश यादव,रामनिवास  यादव, पूर्णमासी यादव, सीताराम यादव, विरेंदर यादव, बबलू यादव ,मनीष यादव आदि सहित सैकड़ों कार्यकर्ता  मौजूद रहे।