मंथर गति में चल रहा है बिजू सेतू, प्रकल्प निर्माण काम, 13 गाँव वालों के लंबी इंतजार का दुख कब दूर होगा?

165

 सुवर्णपुर जिला बिनिका ब्लॉक बंकिघिरडि पंचायत अधीन हुतुमा गाँव से भेडेन ब्लॉक हरिपालि गाँव को बीजू सेतू निर्माण के लिए ओडिशा सरकार के द्वारा आर्थिक वर्ष 2018-19 आर्थिक वर्ष में 14 करोड 9 लाख रुपये मंजूरी हुई थी, ता – 2/01/18 गुरुवार को तत्कालीन बलांगीर सांसद कलिकेश  नारायण सिंह देओ बिनिका ब्लॉक का हुतुमा गाँव गश्त में आकर स्थानीय ग्राम वासी तथा बीजू यूवा वाहिनी के मौजूदगी में बीजू सेतू प्रकल्प निर्माण कार्य फलक का शिलान्यास किए|

बाद में तत्कालीन सांसद 2 सालों में सेतू निर्माण कार्य खत्म होगा और 13 गाँव के लोगों का बहुत दिनों के इंतजार का सपना साकार होगा, यह हुतुमा गाँव में उसदिन अनुष्ठित सभा में उदबोधन दिए थे, बाद में हुतुमा हरिपालि रास्ता जिरानदी  पर बीजू सेतू योजना को सफल रुपायन करने के लिए ओडिशा सरकार कि ग्राम्य उन्नयन विभाग के तरफ से स्थान निर्धारित हुआ था, निर्माण कार्य आरंभ तारिख 21/01/19 तथा कार्य समाप्ति तारीख 20/01/21 स्थिर हुआ था | निर्माण धीन बीजू सेतू का लंबाई 4 सौ मीटर तथा प्रस्थ 7,50 मीटर आकलन होने के बाद हुतुमा जिरानदी किनारे   कार्य में नाम फल्क टांगकर सेतू बनाने का काम शुरू हुआ था, मगर दुख की बात है कि निर्धारित कार्य समाप्ति तारीख अवधि 9 महिने से ज्यादा व्यतीत होचुका है, फिर भी निर्माण कार्य पूरा न होकर धीमी गति से चल रहा है | विलंब होने के कारण 13 खंड गाव वाले बहुत से समस्या का सामना कर रहे हैं |

 निर्माण धीन बीजू सेतू द्वारा बिनिका तथा भेडेन ब्लॉक इलाके का हुतुमा, बंकिघिरडि, बबूटाली, कुदपालि, खंडहता , बाघपालि आदि 13 खंड गाँव के 62400 लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी जीविका निर्भर करता है, सेतू निर्माण कार्य तुरंत हो जाए तो उपरोक्त बिनिका इलाके के लोग बुर्ला  के साथ बरगड,संबलपुर प्रमुख दूर जगहों को आने जाने का अधिक खर्च नहीं होना पडता, दोनों ब्लाकें व्यवसायिक, कृषि भितिक , आनुष्ठानिक तथा सामाजिक कर्म साधना में सरलता आ जाता, 62 हजार लोगों का जीवन जीविका शैली मजबूत होते, मगर निर्धारित तौर पर काम न होने पर धीरे धीरे 13 गाँव के लोग बीजू सेतू पर यातायात करने का सपना मन में मुरझा जा रहा है, निर्माण कार्य हाथ में लिए विभाग तथा संपृक्त ठेकेदार निर्माण कार्य को धीमी गति में बढाने पर स्थानीय हुतुमा गाँव के लोगों ने अभियोग कर रहे हैं |