लावालौंग प्रखण्ड क्षेत्र के रुद्र ज्योतिषी संस्थान के अलावा विभिन्न क्षेत्रों में कन्या पुजन के साथ कलश विसर्जन किया गया

159

 मो० साजिद की रिपोर्ट, लावालौंग

_________

लावालौंग: प्रखण्ड क्षेत्र अन्तर्गत कन्या पूजन व कलश विसर्जन के

                                                   

 साथ आज होगा नवरात्र का परायण। नवमी को कन्या पूजन के साथ कलश विसर्जन किया गया । रूद्र ज्योति संस्थान के आचार्य राधाकांत पाठक बताते हैं, कि सुरक्षा व साम सीर्थ्य अनुसार कोई भी भक्त कन्या पूजन कर सकता है जिन्होंने पहला नवरात्र का आखिरी नवरात्रि का उपवास रखा हो वह भी कन्या पूजन कर सकता है सकते हैं अपने घर में मां की अखंड ज्योति जलाकर कलश स्थापना की हो ऐसे भक्तों को भी कन्या पूजन करना चाहिए नवरात्रि की सभी तिथियों को 11 कन्या नवमी को नौ कन्याओं की विधिवत पूजन का विधान है एक बालक को बटुक भैरव के रूप में पूजा जाता है ज्योतिषाचार्य राधा कांत पाठक ने बताया कि सबसे पहले बाल है या फिर नौ देवियों को आसन प्रदान करें श्रद्धा पूर्वक बैठकर कन्याओं के पैर दूध व जल से धो कर पोछ लें सभी के मस्तक पर तिलक लगाने व घी के दीपक से आरती करें श्रद्धा पूर्वक बनाए भोजन को ग्रहण करने का आग्रह करें ध्यान रखें कि बालक को सबसे पहले भोजन शुरू कराएं पूरी हलवा खीर और चने की सब्जी फल मिठाई आदि को शामिल करना चाहिए सभी कन्याओं को भेंट स्वरूप अपनी सामर्थ्य अनुसार दक्षिणा उपहार आदि भेंट करें कन्या पूजन के बाद उपवास का दान करना चाहिए इस आयोजन में उपस्थित सभी गणमान्य लोग मां भगवती का आशीर्वाद लिया साथी प्रार्थना की कि माता अगले वर्ष भी खुशियों के साथ उनके घर में स्थान ग्रहण करें इस संस्थान में हवन एवं भंडारे का भी आयोजन किया गया उसने बड़ी संख्या में भक्तों ने भाग लेते हुए पूजन अर्चना के बाद प्रसाद ग्रहण किया आचार्य राधाकांत पाठक भव्य आरती के बाद तय है कि जीवन में अगर पुण्य कमाना है स्वाभिमान का त्याग करना होगा अगर किसी का अपमान करोगे तो आप पाप के बनोगी बनोगी अगर किसी का मान करोगे तो पुण्य कमा होगे धर्म कार्य में रुचि लगा भगवान तो भाव की भूख hi माता का अंतिम विदाई कलश विसर्जन कर ला बलम छठ तलाब में कलश को प्रवाहित की गई इस कार्यक्रम में उपस्थित श्रद्धालु

Md. sajid Lawalong