ग्राम सोमलवाड़ा में शमशान भूमि पर देव वन की स्थापना

193

 कुसुम महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा ग्राम सोमलवाड़ा में ग्राम की शमशान भूमि पर देव वन की स्थापना की गई। ग्राम के 21 परिवारों ने पौधारोपण किया तथा वृक्ष मित्र बन कर वृक्ष की सुरक्षा करने का प्रण लिया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आर के रघुवंशी ने कहा कि पेड़ हमारी जीवनरेखा हैं और हमारे जीवन से लेकर मृत्यु तक सहायक होते हैं। कार्यक्रम में सभी उपस्थित ग्रामवासियों ने कम से कम एक पेड़ लगाने तथा उसे बचाने के लिए ट्री गार्ड लगाने का वचन लिया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए

सोमलवाड़ा के सरपंच  विनय हरणॆ ने कहा कि हम सभी ग्रामवासी लगाए गए वृक्ष की सुरक्षा करेंगे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए  आर एस रघुवंशी ने कहा की ग्राम के सभी विद्यार्थियों को यदि शिक्षा के क्षेत्र में कोई भी समस्या हो तो सभी की सहायता के लिए मैं हमेशा उपलब्ध रहूँगा। हाउसिंग बोर्ड कर्मचारी संघ के बलवंत सिंह रघुवंशी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक परिवार को सामूहिक रूप से रामायण पाठ किया जाए तो हर व्यक्ति में संस्कार स्वतः ही जाग्रत हो जायेंगे। डॉक्टर मोहन गुर्जर ने  सभी उपस्थित अतिथियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर योगेश खंडेलवाल द्वारा किया गया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राध्यापक  डॉ. अनुराग पथक, डॉ. अतुल गौर, एन एस एस प्रभारी डॉ. मोहन गुर्जर, प्रो. गजानंद वास्कले, प्रो. प्रशांत चौरसिया, श्रीमति सुमन यादव, डॉ. रश्मि सोनी, डॉ. श्वेता धाकड़, एनएसएस के सभी विद्यार्थी तथा ग्रामवासी उपस्थित रहे।                                          R9. भारत जिला ब्यूरो होशंगाबाद मध्यप्रदेश योगेश राजभर