डीएम ने तहसील सदर में पुनरीक्षण कार्य का लिया जायजा, त्रुटिरहित पुनरीक्षण के दिए निर्देश व टिप्स

181

आसन्न विधानसभा निर्वाचन-2022 के दृष्टिगत जिले में नए मतदाता बनाने व मतदाता सूची में आवश्यकतानुसार संशोधन का कार्य भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार पुनरीक्षण कार्य प्रगति पर है। तहसीलों में विधानसभा वार किए जा रहे पुनरीक्षण कार्यों का जिला निर्वाचन अधिकारी सवंय भ्रमणशील रहकर निरीक्षण कर रहे हैं।
सोमवार को जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने तहसील सदर में औचक पहुंचकर पुनरीक्षण कार्य को देखा तािा वहां पर मौजूद सभी एआरओ, ईआरओ तथा एईआरओ को पुनरीक्षण की बारीकियों के बारे में बताया।
उन्होंने अभियान के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि एक जनवरी 2022 को जिनकी उम्र 18 वर्ष की हो जाएगी उन्हें मतदाता बनाने के लिए अभियान में विशेष फोकस किया जाएगा। इस दौरान अब आखिरी विशेष पुनरीक्षण तिथि 27 नवंबर है। इसलिए वे लोग ऑनलाइन या ऑफलाइन प्राप्त आवेदनों को नियमानुसार फीडिंग या निस्तारण करा दें। उन्होंने कहा कि मतदाता सूची में नाम जुड़वाने व नाम कटवाने के लिए दावे और आपत्तियां एक नवंबर से 30 नवंबर तक प्राप्त की जाएंगी। प्राप्त दावे और आपत्तियों का निस्तारण 20 दिसंबर तक करते हुए मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन पांच जनवरी, 2022 को किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मतदाता सूची में नाम शामिल कराने के लिए फार्म-6 भरा जाएगा। किसी प्रवासी द्वारा मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए फार्म-6ए, नाम कटवाने के लिए फार्म-7, मतदाता सूची में दर्ज नामों में त्रुटियां ठीक कराने के लिए फार्म-8 तथा एक निर्वाचन क्षेत्र में निवास स्थान को दूसरे स्थान पर स्थानांतरित कराने के लिए फार्म-8ए भरकर संबंधित पोलिंग बूथ के बूथ लेवल अधिकारी, मतदाता पंजीकरण केंद्र, निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी और जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में से किसी एक जगह प्रस्तुत कर सकते हैं। उन्होंने सभागार में मौजूद अधिकारियों को पुनरीक्षण के कई टिप्स भी बताए जिससे पुनरीक्षण कार्य त्रुटिरहित किया जा सके।
इस दौरान एसडीएम सदर विनोद कुमार सिंह, तहसीलादर राजीव मोहन सक्सेना, एसओसी, सभी नायब तहसीलदार तथा समस्त ईआरओ व एईआरओ एवं राजस्व निरीक्षक व लेखपाल उपस्थित रहे।