प्रशकाल मे नेताप्रतिपक्ष के सवालों से बचती नज़र आई सरकार

62

प्रशकाल मे नेताप्रतिपक्ष के सवालों से बचती नज़र आई सरकार


विधानसभा सत्र के पहले दिन प्रश्नकाल शुरु होते ही नेता प्रतिपक्ष ने अध्यक्ष से कहा कि कार्य सूची में देखने से पता चला है कि विधायक सुमित और विधायक मयूख महर के लोक निर्माण विभाग से संबधित दो प्रश्न स्थगित कर दिए है।’’
नेताप्रिपक्ष ने बताया कि इन प्रश्नों को केन्द्रीय विषय होने के आधार पर निरस्त किया गया है।
नेताप्रतिपक्ष ने अध्यक्ष को सबोधित करते हुऐ कहा कि सड़क और परिवहन केन्द्रीय सूची के विषय नहीं बल्कि समवर्ती सूची का विषय है। यानि सड़क के मामले में केन्द्र और सरकार की जिम्मेदारी होती है।
उन्होंने कहा कि , राज्य में इन सड़कों में से अधिकांश की निर्माण और रख-रखाव हमारे विभागों से किया जा रहा है और उन्हें केन्द्रीय विषय कहा जा रहा है। कल तो विभाग ये भी कहने लगेंगे कि केन्द्र पोषित योजनाओं के जबाब भी नहीं देंगे ।
नेता प्रतिपक्ष पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के जबाब से भी सन्तुष्ठ नहीं हुए।
इस पर वरिष्ठ भाजपा विधायक मुन्ना सिंह बीच बचाव किया और कहा कि , यहां चर्चा के बजाय विधानसभा अध्यक्ष जी के कक्ष में चर्चा की जा सकती है।
इस पर कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक प्रीतम सिंह और नेता प्रतिपक्ष ने आपत्ति व्यक्त की।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि , बहाने बना कर प्रश्नों का जबाब न देने की इस प्रवृृत्ति पर रोक लगानी होगी। उन्होने पीठ से विभागों को निर्देशित करने और आदेशित करने की मांग करते हुए विभागों को कठोर चेतावनी भी देने का निवेदन किया ताकि भविष्य में कोई अन्य विभाग प्रश्नों से बचने के लिए ऐसी कोशिस न कर सके।

ब्यूरो रिपोर्ट by गौरव पंत
R9. भारत T.V( ब्यूरो चीफ)
नैनीताल