लापरवाह शिक्षकों के ऊपर छपरदागा के ग्रामीणों ने कसा शिकंजा

74

डंडा से चंदन कुमार चौधरी की रिपोर्ट

गढ़वा जिला के डंडा थाना क्षेत्र अंतर्गत छपरदागा के ग्रामीणों ने लापरवाह शिक्षकों पर शिकंजा कसने के लिए जनता की अदालत लगाया। जिसमें बारी-बारी से विद्यालय में हो रही शिक्षकों द्वारा अपने समय का दुरुपयोग करने का मामला सामने आया जिसमें ग्रामीणों के द्वारा सभी शिक्षकों से बारी बारी से स्पष्टीकरण लिया गया साथ ही साथ विद्यालय में पढ़ने वालों छात्र छात्राओं से भी सभी शिक्षकों के बारे में पूछताछ की गई जिसमें ग्रामीणों के समक्ष छात्र छात्राओं के द्वारा शिकायत की गई कि स्कूल के शिक्षक क्लास में कम समय देते हैं कई शिक्षक गण समय पर स्कूल नहीं आते हैं और क्लास से बाहर कुर्सी पर बैठे बैठे आपस में ही बातचीत करते रहते हैं और कईयों को तो क्लास के समय मोबाइल पर बातें करते ही दिन कट जाती है कई लोग का व्हाट्सएप व्हाट्सएप करते करते छुट्टी का समय हो जाता है ऐसी शिकायतें इससे पहले भी अभिभावकों मिलती रही है‌। विदित हो कि गांव के ग्रामीणों द्वारा 13/11/21 को बैठक किया गया था जिसमें पता चला की शिक्षिका मंजु कुमारी पर शिकायत आया था कि मंजू कुमारी द्वारा 12/11/2021 को ही अगले दिन यानि 13/11/2021 के लिए हाजिरी पंजी रजिस्टर में उपस्थिति दर्ज करा कराई गई है जो सरासर गलत है और बच्चों के भविष्य को देखते हुए किसी भी शिक्षक द्वारा ऐसा कृत्य संगीन अपराध है। इसलिए बाध्य होकर ऐसे शिक्षकों के उपर कार्रवाई एवं विद्यालय से निष्कासित करने की मांग को लेकर मौखिक रूप से गढ़वा बी ई ओ से भी बात हुई ऐसे लापरवाह शिक्षकों को छप्परदागा विद्यालय से ट्रांसफर की मांग की गई छपरदागा के ग्रामीण शिक्षा विभाग के वरीय पदाधिकारी गन से मांग करती है कि ऐसे लापरवाह शिक्षका के ऊपर कार्रवाई करते हुए छपरदागा राजकीय मध्य विद्यालय से निष्कासित करने का मांग किये। इस मौके पर उपस्थित अजय कुमार चौधरी उर्फ अजय मेटल, छपरदागा पंचायत के मुखिया श्री नरेश कुमार विश्वकर्मा, भूतपूर्व मुखिया श्री यदु चौधरी जी, बबन चौधरी, राजमणि चौधरी, दशरथ चौधरी,डॉक्टर तौकिर अंसारी, उम्रखताब अंसारी, मनोज राम, लालमुनी चौधरी,राजा शर्मा अर्जुन पाल, भूत पूर्व उपमुखिया प्रेम चौरसिया,सुदामा चौरसिया, रैमुल अंसारी के साथ सैकड़ों संख्या में छपरदागा के ग्रामीण उपस्थित थे।