वज्रशल्क जीवित उद्धार, 4 अभियुक्त गिरफ्तार

90

  नबरंगपुर वन विभाग को  बड़ी सफलता मिली है  | एक जिंदा वज्रशल्क को वन विभाग ने उद्धार किया है | वज्रशल्क बेचने के अभियोग में 4 गिरफ्तार होने की सूचना मिली है | एक जिंदा वज्रशल्क नबरंगपुर थाना अंतर्गत चिकिलि  धारनाबेडा रास्ते के किनारे गुप्त तरीके से बाहर के राज्य को एक लाख रुपये बेचने के लिए कोशिश करते वक्त नबरंगपुर वन विभाग विश्वस्त सुत्रों से खबर पाकर वज्रशल्क को जिंदा उद्धार किया है | 

इसके साथ वज्रशल्क बेचने की कोशिश कर रहे चारों को गिरफ्तार किया गया है | उनके पास से एक बाइक, एक स्कूटी, चार मोबाइल, एक तलवार और एक कुल्हाड़ी जब्त किया है | गिरफ्तार हुए अभियुक्त है नबरंगपुर जिला तेंतुलिखुंटी थाना अंतर्गत अंचलगुम्मा गाँव के वृंदावन पूजारी, चित्रोकोट गाँव के लूथर टाक्री  , रायगडा जिला के श्रीप हेंब्रंम तथा कोरापुट जिला बैपारिगुडा इलाके के शुक्र मुदुलि | उनसे डंडा, कुल्हाड़ी जैसे अस्त्र जब्त किया गया है  | सभी के खिलाफ वन विभाग 81/21 के अनुसार मामला दर्ज करके अभियुक्तों कौ कोर्ट चालान किया गया है | उद्धार हुए जिंदा वज्रशल्क की वजन 8.2 किलोग्राम है, लंबाई 134 सेंटिमीटर है और नबरंगपुर एसीएफ धनुर्जय महापात्र ने सूचना दी है | दिन ब दिन ऐसे वन्य पशुओं का रैकेट बढने लगा है | ऐसे कार्य सीमावर्ती इलाकों में हो रहा है, वन विभाग के तरफ से पेट्रोलिंग को कड़ी करने के लिए साधारण  में दावे हो रहे हैं | आगे वन विभाग पूरी तरह सतर्क रहकर ऐसे रैकेट का पर्दाफाश करने को अनुरोध किया गया है | 

नबरंगपुर पापडाहांडि से किशोर कुमार बिषोयी का रिपोर्ट

आर 9 भारत