उत्सव हमारे सांस्कृतिक समृद्धता को रेखांकित करते हैं – सुनील रामदास

23

ब्यूरो रिपोर्ट छ. ग. रायगढ़ से महेंद्र अग्रवाल R9 भारत

उत्सव हमारे सांस्कृतिक समृद्धता को रेखांकित करते हैं – सुनील रामदास

रायगढ़ – पुरानी बस्ती के बहिदार पारा स्थित गांजा चौक में गत 7 वर्षों से गणेश चतुर्थी के दिन हर वर्ष प्रथम पूज्य भगवान गणेश की स्थापना की जाती है और इस आयोजन के पांचवें दिवस पर भजन संध्या भी आयोजित की जाती है। इस भजन संध्या के आयोजन के अवसर पर भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ता सुनील रामदास को मुख्य अतिथि के रूप में पूजन समिति द्वारा आमंत्रित किया गया था। इस अवसर पर सुनील रामदास ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि विभिन्न प्रकार के उत्सव हमारे संस्कृति के अंग हैं। इसके पीछे हमारे समाज की सांस्कृतिक समृद्धता मूल कारक है। इन उत्सवों के माध्यम से हम एक ओर दर्शन से जुड़ने का प्रयास करते हैं, तो वहीं दूसरी ओर समाज के आर्थिक गतिविधियों को भी गति मिलती है। उत्सवों में हर प्रकार के कार्य करने वाले व्यक्ति तक अर्थ की पहुंच बनाने के लिए उत्सवों को हमारे पूर्वजों द्वारा उसी ढंग से विकसित किया गया है। जिसके माध्यम से हम अपने दार्शिक व्यवस्थाओं से जुड़ते हैं और साथ ही भौतिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए अर्थव्यवस्था को भी गति देने का कार्य करते हैं। अतः उत्सव हमारे सांस्कृतिक समृद्धता को रेखांकित करने वाला एक सामाजिक उपकरण है, जो कि समाज में दार्शनिक चेतना और आर्थिक समृद्धता लाने का कार्य करती है। इस कार्यक्रम में विकास बहिदर, अनुराग गुरु, योगेश ठेठवार, प्रयाग राज सिंह, अमन गुप्ता, विशाल वर्मा, ऋतिक बहिदार, अविनाश बहिदार, गौतम बहिदार, आयुष गुप्ता, आयुष अग्रवाल सहित पुरानी बस्ती के सैकड़ों युवा उपस्थित रहे।