उपायुक्त सिमडेगा सुशांत गौरव ने जिले में क्रियाशील कोविड-19 टीकाकरण कार्य की ई-मुलाकात के माध्यम से समीक्षा बैठक की

138

 रिपोर्ट : बसंत कुमार कश्यप

लोकेशन : सिमडेगा / झारखंड

एंकर : उपायुक्त सिमडेगा सुशांत गौरव ने जिले में क्रियाशील कोविड-19 टीकाकरण कार्य की ई-मुलाकात के माध्यम से समीक्षा बैठक की। ऑनलाईन माध्यम से जुड़े प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, एमओआईसी संग प्रखण्डवार टीकाकरण कार्य की गहन समीक्षा की। उन्होने कोलेबिरा, बानो, ठेठईटांगर, जलडेगा व बोलबा प्रखण्ड के टीकाकरण कार्य की प्रगति को देख नाराजगी व्यक्त की। उन्होने कहा कि प्रखण्ड विकास पदाधिकारी अपने प्रखण्ड में शतप्रतिशत टीकाकरण कार्य की बागडोर को संभालें, प्रखण्ड को टीका रहित प्रखण्ड बनायें। उन्होने कहा कि टीकाकरण कार्य में किसी प्रकार की ठिलाई व टीम में लचर की स्थिति कतई उत्पन्न न हो। एक को नहीं टीम के सभी कर्मियों को टीकाकरण की जिम्मेवारी को सौंपे। सूची का विभाजन करते हुए पोषक क्षेत्रवार पोस्टर चिपकाने एवं कर्मियों के हाथ में सूची सौंपने की बात कही। सभी अपने-अपने लक्ष्य को अनिर्वाय रूप से पूर्ण करना सुनिश्चित करेंगे। 965 आंगनबाड़ी सेविका/सहायिक है, सभी एक-एक लाभार्थी को प्रतिदिन घर-घर जाकर सर्वे कर टीका दिलाना सुनिश्चित करेंगे। विद्यालय के शिक्षक, शिक्षिकाएं एवं समर्पित शिक्षकों को विद्यालय के सभी छात्र-छात्राओं संग बैठक कर सभी को कोविड का टीका कैम्प लगाकर टीका दिलाना सुनिश्चित करें, सभी शिक्षक, शिक्षिकाएं को प्रतिदिन अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण कराने का लक्ष्य दिया, साथ हीं पीडीएस डीलर के माध्यम से डीलर वाईज सूचीबद्ध लाभुकों का गांव-गांव, घर-घर सर्वे करते हुए टीकाकरण कराने का निर्देश दिया। उन्होने बीडीओ, सीओ एवं एमओआईसी को माइक्रो लेबल की टीम पर विशेष फोकस देते हुए प्लानिंग के साथ कार्य करने का निर्देश दिया। इस वर्ष प्रखण्डों को कोविड टीकाकरण के कार्य से मुक्त करें। 

उन्होने टीकाकरण के कार्य को लेकर महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दियें। उन्होने कहा कि एक्टीव मूड में टीकाकरण कार्य को करें। प्रचार-प्रसार के तंत्र को सघन करें। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, एमओआईसी फिल्ड विजिट करें। कैम्प आयोजन के साथ-साथ प्रतिदिन कार्य में प्रगति हो, यह सुनिश्चित करें। जेएसएलपीएस की सभी महिला समूह को प्रतिदिन टीकाकरण का लक्ष्य देने का निर्देश दिया। प्रतिदिन गांव-टोला जाकर छुटे हुये लाभार्थी का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करेंगे। 25 नवम्बर तक छुटे हुये डेटा इन्ट्री कार्य को पूर्ण करने का निर्देश दिया, कार्य नहीं होने की स्थिति में उतने टीका के फाईल की राशि की वसूली की जाएगी। 

उन्होने कार्य प्रगति की समीक्षा के क्रम में कहा कि सितम्बर मे 84000 हजार टीका लगाने का लक्ष्य प्राप्त किया गया। आगे इसी रफ्तार के साथ कार्य करें। पूर्ण जिम्मेवारी के साथ टीकाकरण के कार्य को पूर्ण करें। 

उन्होने कार्य प्लान की समीक्षा के क्रम में कहा कि धन कटनी का सिजन है, सामुहिक रूप से खेत में जाकर टीका का लाभ दें। कैम्प में आस-पास के लोगों को बाईक में बैठा कर केन्द्र तक लाएं, टीका दिलायें। ईधन की राशि का भुगतान किया जायेगा। 

टीकाकरण कार्य में उत्कृष्ट करने वाले कर्मी को पुरस्कृत करने की बात कही। साथ हीं बीडीओ को टीकाकरण कार्य की प्रगति की समीक्षा करने का निर्देश दिया, कार्य में शिथिलता एवं लापरवाही पाये जाने पर प्रतिवेदन समर्पित करने का निर्देश दिया। साथ बैठक की कार्रवाही प्रेषित करने की बात कही। 

बैठक में उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, सिविल सर्जन, अनुमण्डल पदाधिकारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी सहित प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व अन्य पदाधिकारी उपस्थित थें।